आर० डी० न्यूज़ नेटवर्क : 29 जून 2022 : मुंबई: फ्लोर टेस्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद उद्धव ठाकरे ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। उद्धव ठाकरे ने फेसबुक लाइव कर इस्तीफे का ऐलान किया। इससे पहले उन्होंने कैबिनेट बैठक में कहा था कि अगर गुरुवार को फ्लोर टेस्ट होता है तो यह उनकी आखिरी कैबिनेट मीटिंग होगी। उद्धव ठाकरे ने न सिर्फ सीएम पद से बल्कि विधानपरिषद के सदस्य पद से भी इस्तीफा दे दिया है।

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने फेसबुक लाइव के माध्यम से इस्तीफे का ऐलान किया। सीएम पद के अलावा उन्होंने विधान परिषद से भी इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने इस दौरान कहा, ‘मेरे पास शिवसेना है। मैं नहीं चाहता कि शिवसैनिकों का खून बहे। मैं अप्रत्याशित तरीके से (सत्ता में) आया था और मैं इसी तरह से बाहर जा रहा हूं। मैं हमेशा के लिए नहीं जा रहा हूं, मैं यहां रहूंगा, और मैं एक बार फिर शिवसेना भवन में बैठूंगा। मैं अपने सभी लोगों को इकट्ठा करूंगा। मैं सीएम और एमएलसी के पद से इस्तीफा दे रहा हूं।’

बागियों पर सीएम उद्धव का छलका दर्द

इस्तीफे के ऐलान के दौरान उद्धव ठाकरे का दर्द भी झलका। उन्होंने कहा, ‘जिस भाषा का इस्तेमाल हुआ वह अच्छा नहीं है। सभी बागी ठाकरे परिवार को भूल गए। जिनको मैंने दिया वह सब नाराज हैं। जिन्हें कुछ नहीं दिया वह साथ में हैं।’ उद्धव ने आगे कहा, ‘एक खत पर राज्यपाल ने फैसला ले लिया। राज्यपाल को मैं धन्यवाद करता हूं। कांग्रेस ने मंत्रिमंडल से निकलने की पेशकश की थी। आखिर बागी विधायकों को नाराजगी किस बात की है।’

उद्धव ठाकरे ने फेसबुक पर अपने संबोधन में बताया कि महाराष्ट्र कैबिनेट में औरंगाबाद का नाम संभाजीनगर करने का प्रस्ताव पास हो गया है। उन्होंने कहा, मैं संतुष्ट हूं कि हमने आधिकारिक तौर पर औरंगाबाद का नाम संभाजी नगर और उस्मानाबाद का नाम धाराशिव कर दिया है। उद्धव ने बताया, ‘मैं एनसीपी और कांग्रेस के लोगों का आभार व्यक्त करना चाहता हूं कि उन्होंने मेरा समर्थन किया। शिवसेना, अनिल परब, सुभाष देसाई और आदित्य ठाकरे से ये लोग तभी मौजूद थे जब प्रस्ताव पारित हुआ था जबकि एनसीपी और कांग्रेस के लोगों ने भी प्रस्ताव का समर्थन किया।’

मुझे अपनों ने ही धोखा दिया: उद्धव ठाकरे

इससे पहले कैबिनेट बैठक में उद्धव ठाकरे ने कहा कि उन्हें उनके अपनों ने ही धोखा दिया है। एक अधिकारी ने बताया कि ठाकरे ने अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों से कहा कि उन्हें उनके अपनों ने ही धोखा दिया है। उन्होंने ठाकरे को उद्धत करते हुए कहा,‘मैंने अगर अनजाने में किसी को चोट पहुंचाई हो तो मैं उसके लिए माफी मांगता हूं।’ अधिकारी ने बताया कि बैठक में ठाकरे के संबोधन के बाद मंत्रियों ने तालियां बजाईं।

कांग्रेस के मंत्री सुनील केदार ने बैठक के बाद पत्रकारों से कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पिछले ढाई वर्षों में सहयोग देने के लिए अपने मंत्रिमंड़लीय सहयोगियों का आभार व्यक्त किया । उन्होंने कहा कि ठाकरे ने हमेशा सब को इज्जत दी है। मंत्री ने कहा, ‘उन्होंने सहयोग के लिए मंत्रिमंड़ल का आभार व्यक्त किया और कहा कि सहयोग जारी रहेगा।’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !! Copyright Reserved © RD News Network