कहा : पहले जनप्रतिनिधि तब विधानसभा अध्यक्ष

आर० डी० न्यूज़ नेटवर्क : 12 फरवरी 2022 : लखीसराय। विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने पुलिस पर बरसते हुए कहा कि इसके ही संरक्षण में राज्य में दारू और बालू की तस्करी हो रही है। इसमें कई बड़े लोग भी शामिल हैं। दो दिवसीय दौरे के दौरान अपने विधानसभा क्षेत्र लखीसराय पहुंचने के दौरान उन्होंने यह भी कहा कि यदि इस क्षेत्र का माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गयी तो वे अध्यक्ष पद से त्याग पत्र देकर आम जनता के पक्ष में सड़क पर आंदोलन शुरू कर सकते हैं। वे इसकी शिकायत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डीजीपी से भी करेंगे।   बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि मुख्यमंत्री और डीजीपी का दबाव आने पर मामूली कार्रवाई कर पुलिस अपनी पीठ थपथपा लेती है। जो सरकार को बदनाम करने की एक साजिश है। बेलगाम अपराध को रोकने के बदले पुलिस अवैध कमाई में लगी है। ऐसे भ्रष्ट और कमजोर पुलिस पदाधिकारियों को क्षेत्र में बने रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है।    श्री सिन्हा ने लखीसराय एसपी पर भी गंभीर आरोप लगाये। उन्होंने कहा कि जब भी क्षेत्र की विधि व्यवस्था की समीक्षा करने के लिए बैठक बुलाते हैं , वे किसी न किसी बहाने से निकल जाते हैं। उन्होंने बताया कि वे विधानसभा अध्यक्ष के साथ – साथ लखीसराय के प्रतिनिधि भी हैं। यदि इस क्षेत्र का माहौल बिगाड़ने का प्रयास किया गया तो वे विधानसभा अध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर सड़क पर आंदोलन शुरु कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि वे इस बात की शिकायत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और डीजीपी एसके सिंघल से करेंगे।      गौरतलब है कि सरस्वती पूजा के मौके पर लखीसराय के बड़हिया प्रखंड के टाल क्षेत्र में आर्केस्ट्रा आयोजित की गयी थी। जहां स्थानीय लोगों ने बार – बालाओं के साथ जमकर ठुमके लगाए। इस दौरान हथियार का प्रदर्शन और नर्तकी पर पैसे बरसाए गये। वही वीरुपुर थाना क्षेत्र के गिरधरपुर गांव , पाली पंचायत के कमरपुर और एजनिघाट पंचायत के रुस्तमपुर गांव में भी नर्तकियों का अश्लील डांस हुआ। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल है।    

वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने कुछ लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की। साथ ही दो वैसे लोगों को गिरफ्तार किया जो केवल आर्केस्ट्रा देखने गए थे। उनसे जबरन जुर्म कबूलने को भी कहा गया। साथ ही पैसे देकर जमानत देने की बात कही गयी। मामला सामने आने के बाद आग – बबूला हुए श्री सिन्हा ने पुलिस को फटकार लगाई।     उन्होंने कहा कि राज्य में सुशासन लागू करना पुलिस की जिम्मेदारी है। इसका मतलब यह नहीं है कि वे लोगों के मन में खौफ पैदा करें और गलत तरीके से काम करें। अगर ऐसा किया गया तो कार्रवाई होगी। मैं लखीसराय को चारागाह नहीं बनने दूंगा। पहले मैं अपने क्षेत्र का जन प्रतिनिधि हूं तब विधानसभा अध्यक्ष हूं। जरूरत पड़ी तो विधानसभा में कमिटी बनाकर जांच कराई जाएगी।     विधानसभा अध्यक्ष श्री सिन्हा ने कहा कि वायरल वीडियो में स्टेज पर राइफल लेकर बैठे लोगों और डांस कराने वालों पर कार्रवाई क्यों नहीं की गयी। गिरफ्तार गौतम महतो एवं अमित महतो कार्यकर्ता हैं जो डांस देखने गए थे। दोनों को घर से बुलाकर जेल भेज दिया गया। विधानसभा अध्यक्ष ने सवाल किया कि जब आपके क्षेत्र में इस तरह का आयोजन हो रहा था , तब आपलोग कहां थे? ऐसे थानाध्यक्ष को फील्ड में नहीं रहना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !! Copyright Reserved © RD News Network