आर० डी० न्यूज़ नेटवर्क : 19 जनवरी 2024 : बोधगया। शंख ध्वनि और दीप प्रज्ज्वलित कर तीन दिवसीय बौद्ध महोत्सव का शुभारंभ शुक्रवार को बोधगया के कालचक्र मैदान में हुआ। गया जिला के प्रभारी मंत्री इजराइल मंसूरी ने कार्यक्रम के उदघाटन संबोधन में कहा कि बौद्ध महोत्सव को देखने से लगता है कि यहां कितनी शांति है। बौद्ध धर्म का ऐसा विचार है कि सभी लोग मिलकर मानते हैं।

कृषि मंत्री इ कुमार सर्वजीत ने कहा कि बोधगया ही ऐसी पवित्र धरती है जहां से पूरे दुनिया में दूर करने का संदेश दिया जाता है भाईचारा स्थापित करने का संदेश देने में बोध गया की धरती सबसे आगे है हम यहां से सनातन धर्म लवियों के लिए मोक्ष हेतु पिंडदान भी करते हैं और उसकी पूरी व्यवस्था करते हैं हज यात्रा की व्यवस्था करते हैं। यह धरती सर्व धर्म समभाव की है। यहां नफरत की बात नहीं चलेगी। उन्होंने कहा कि बुद्ध महोत्सव का मकसद भी यही है। देश का पहला राज्य है जहां सबसे बढ़िया पर्यटन नीति लाई गई है। उप मुख्यमंत्री ने यहां के विकास का बड़ा मापदंड तैयार किया है। लोगों से कहा है कि आप दस करोड़ रुपए का होटल बनाएं सरकार तीन करोड़ की मदद करेगी। स्थानीय लोगों के सुविधा और रोजगार उपलब्ध कराने के लिए फुटपथियो को नोड 1 में सिफ्ट किया जाएगा।

गुरुआ विधायक विनय कुमार ने कहा कि गुरुआ विद्यान सभा क्षेत्र के भुराहा को बौद्ध पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जाय। बौद्ध धर्म के दोनों प्रमुख पंथ के भिक्षुओं द्वारा सुत पाठ किया गया। जिला पदाधिकारी डॉ त्यागराजन एस एम ने स्वागत भाषण दिया। तथागत स्मारिका का अतिथियों द्वारा विमोचन किया गया। इस मौके पर सांसद विजय कुमार मांझी, विधायक कुमार सुदय, विनय कुमार, पूर्व विधायक अभय कुशवाहा, अध्यक्ष जिला परिषद नैना कुमारी, बीटीएमसी सचिव महास्वेता महारथी, पूर्व सचिव एन दोरजे, डॉ अरविंद कुमार सिंह सहित अन्य लोग मौजूद थे। बिहार गौरव गान से रंगा रंग सांस्कृतिक कार्यक्रम की शुरुआत हुई और देर रात तक चलता रहा। इसमें लाओस, थाईलैंड, श्रीलंका, म्यांमार आदि कई देशों के कलाकारों ने प्रस्तुति दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! Copyright Reserved © RD News Network