आर० डी० न्यूज़ नेटवर्क : 24 नवंबर 2023 : पटना। जदयू के 26 नवम्बर को पटना में हो रहे भीम संवाद के बाद  जदयू के “भीम संवाद” के जबाव में भाजपा  “अम्बेदकर समागम ” की तैयारी में जुट गयी है। 7 दिसम्बर को पटना के मिलर स्कूल मैदान में इसका आयोजन होगा।

40 लोकसभा सीट वाले बिहार में पिछले चुनाव में राजग का डंका बजा था। भाजपा-जदये और लोजपा ने मिलकर 39 सीटे जीती थी।2024 के चुनाव में जदयू-राजद,कांग्रेस और वामदल एकजुट होकर भाजपा को चुनौती देगें।ऐसे में भाजपा के लिए बिहार में 2014 और 2019 की जीत     कायम रखनी है। हाल में पटना में गोवर्धन महोत्सव का आयोजन कर हजारों की संख्या में जुटे यादव जाति के कार्यकर्ताओं को भाजपा में शामिल कराने की घोषणा की गयी है। भाजपा की यह  मुहिम स्रर्वाधिक  14.5% यादव  को साधने और  राजद के वोट बैंक मे सेंधमारी की कोशिश के रूप में देखी जा रही है।

 हाल में सीएम नीतीश कुमार ने जातीय गणना की रिपोर्ट के आधार पर अनुसूचित जाति का 16% से बढ़ाकर 20% और अनुसूचित जन जाति की 1% बढाकर 2% आरक्षण किया गया है। दलितों के हित में यह बडा फैसला है।जदयू के भीम संवाद में सीएम नीतीश कुमार बिहार की तरह पूरे देश जें जातीय गणना कराकर आरक्षण बढाने पूरजोर वकालत करेंगे।

 वहीं लोकसभा चुनाव नजदीक देख भाजपा विभिन्न महापुरुषों की जयंती व पुण्यतिथि के बहाने अलग-अलग जाति समूहों को साधने में जुट गयी है। बिहार में अंतत: प्राय:  सभी पार्टियां मतदाताओं को जाति के आधार पर ही  गोलबंद कर चुनावी वैतरणी पार लगने की कोशिश करते हैं। बिहार में सर्वाधिक 75% आरक्षण  लागू कर सत्तारूढ महागठबंधन ने चुनाशमवी राह आसान बनाने की कोशिश की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! Copyright Reserved © RD News Network