तेजस्वी बतायें, करोड़ों की सम्पत्ति के मालिक कैसे बने ?

आर० डी० न्यूज़ नेटवर्क : 1 अगस्त 2023 : पटना । पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने कहा कि नौकरी के बदले जमीन मामले में लालू परिवार की करोड़ों रुपये की सम्पत्ति जब्त होने से जदयू नेतृृत्व न केवल प्रसन्न है, बल्कि चाहता है कि राजद के प्रथम राजनीतिक परिवार के कुछ लोगों को जेल भेजने जैसी बड़ी कार्रवाई हो। यदि ऐसा हुआ तो नीतीश कुमार 2025 तक निष्कंटक राज करेंगे और डील के अनुसार उन्हें तेजस्वी यादव को सत्ता नहीं सौंपनी होगी। 

सुशील मोदी ने कहा कि जदयू लालू परिवार पर ईडी की कार्रवाई का विरोध केवल दिखावे के लिए कर रहा है। असल में इससे जदयू अध्यक्षा ललन सिंह खुश हैं, क्योंकि नौकरी के बदले जमीन लिखवाने के मामले की जांच के लिए उन्होंने ही पक्के सबूत उपलब्ध कराये थे। उन्होंने कहा कि यदि डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को जेल जाना पड़ा, तो जदयू के लिए राजद पर कब्जा करना आसान हो जाएगा। 

सुशील मोदी ने कहा कि ईडी ने पुख्ता सबूत के आधार पर कानून केे अनुसार सम्पत्ति जब्त करने की कार्रवाई की, लेकिन लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव को बताना चाहिए कि वे लगभग 100 करोड़ की सम्पत्ति के मालिक कैसे बने? 

उन्होंने कहा कि दिल्ली की न्यू फ्रेंड्स कालोनी वाला करोड़ों रुपये का बंगला ( डी-1088) एबी एक्सपोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का रजिस्टर्ड आफिस था। तेजस्वी यादव मात्र 4 लाख रुपये में इस कंपनी और उसके कार्यालय भवन के मालिक बन गए।

सुशील मोदी ने कहा कि इसी कंपनी (एबी एक्सपोर्ट) के माध्यम से रेलवे में नौकरी पाने के लिए लिखवायी गई जमीन लालू परिवार तक पहुंची। उन्होंने कहा कि रेलवे में ग्रुप-डी की नौकरी पाने केे बदले हृदयानंद चौधरी ने पटना की अपनी 70 लाख की सम्पत्ति राबड़ी देवी और हेमा यादव को गिफ्ट कर दी। क्या यह सही नहीं है? 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! Copyright Reserved © RD News Network