आर० डी० न्यूज़ नेटवर्क : 22 मई 2022 : नोखा। महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) में काम करने वाले मजदूरों की अब फर्जी हाजिरी नहीं लग पाएगी। मनरेगा मजदूरों की अब मोबाइल एप के माध्यम से दिन में दो बार हाजिर लगेगी। इसके लिए ग्रामीण विकास विभाग ने नेशनल मोबाइल मॉनिटरिंग ( एनएमएमएस) एप लांच किया है। नोखा प्रखंड के छतौना, श्रीखिंडा, चनकी, सिसिरता, मौडीहा,कदवाँ,कुरी,धर्मपुरा, नोनसारी , हथिनि, पंचायतों में एप के माध्यम से हाजिरी लगाने का काम भी शुरू हो गया है। रोजगार सेवकों को इसका प्रशिक्षण दिया जा चुका है। फिलहाल तेरह पंचायतों में मात्र पांच में ही रोजगार सेवक पदस्थापित हैं। लिहाजा प्रखंड की सभी पंचायतों में एप से मॉनिटरिंग शुरू नहीं हो पायी है। ग्रामीण विकास विभाग ने नेशनल मोबाइल मॉनिटरिंग सॉफ्टवेयर (एनएमएमएस) एप को पंचायत रोजगार सेवक एप को मोबाइल में डाउनलोड करेंगे। वे इस एप के माध्यम से ही मनरेगा मजदूरों की हाजिरी बनाएंगे। यह एप ऊपर से नीचे तक के लोगों की जवाबदेही तय करेगा। ऐसे में योजना के काम करने में यदि ढिलाई बरती तो अधिकारी भी नपेंगे।

मनरेगा पीओ पवन कुमार ने बताया कि मनरेगा मजदूरों के वर्क साइट सहित फोटो एप पर दिन में दो बार अपलोड करने होंगे। पहला फोटोग्राफ सुबह के समय अपलोड करना होगा, जबकि दूसरी बार फोटो दोपहर दो से शाम पांच बजे के बीच डालना होगा। फोटो अपलोड जियो टैगिंग के माध्यम से रजिस्टर्ड मोबाइल से ही किया जा सकेगा। इस एप के माध्यम से मनरेगा मजदूरों की हाजिरी ऑनलाइन बनेगी। ज्ञात हो कि मनरेगा मजदूरों की हाजिरी व मजदूरी को लेकर योजना से जुड़ी शिकायतें आती रहती थीं। लेकिन, अब सरकार ने मनरेगा मजदूरी के कामों में पारदर्शिता लाने के लिए इस एप को लांच किया है। इससे फर्जीवाड़े पर लगाम लगाने, मनरेगा योजना को प्रभावी व पारदर्शी तरीके से क्रियान्वित करने में मदद मिलेगी। मनरेगा पीओ पवन कुमार ने बताया कि रोजगार सेवकों की संख्या कम होने के कारण प्रखंड के छह पंचायतों में एनएमएमएस एप लागू किया गया हैं। इससे इन पंचायतों में मजदूरों की फर्जी हाजिरी पर रोक लगेगी।

https://youtu.be/dtGfLMsY2Ww

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !! Copyright Reserved © RD News Network