डीएम के निर्देशों पर जांच के बाद हुई कारवाई

आर० डी० न्यूज़ नेटवर्क : 02 जून 2022 : शेखपुरा। जिले के सदर प्रखंड अंतर्गत पैन पंचायत में नलकूपों के जीर्णोद्धार हेतु सरकार द्वारा उपलब्ध कराई गई लगभग 16 लाख रुपए की अवैध निकासी कर गोलमाल किए जाने का एक मामला उजागर हुआ है। डीएम सावन कुमार के निर्देशों के आलोक में इस मामले की जांच के बाद गुरुवार को लघु सिंचाई प्रमंडल के कनीय अभियंता अखिलेश कुमार ने नगर थाना में एक प्राथमिकी दर्ज कराई। दर्ज कराई गई प्राथमिकी में निवर्तमान मुखिया अविनाश कुमार और पंचायत सचिव मदन पासवान को नामजद अभियुक्त बनाया गया है।इस बाबत नगर थाना अध्यक्ष सह पुलिस निरीक्षक विनोद राम ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है। सूत्रों ने बताया कि सरकार द्वारा निवर्तमान मुखिया के कार्यकाल में पैन पंचायत के राजकीय नलकूपों के जीर्णोद्धार हेतु 15 लाख 98 हजार 5 सौ रुपए की सरकारी राशि मुखिया को उपलब्ध कराई थी। उक्त राशि से बंद और खराब पड़े नलकूपों की मरम्मती कराने के बजाय मुखिया और पंचायत सचिव सारे रुपयों को निकाल कर गबन कर लिया। इस की शिकायत ग्रामीणों द्वारा डीएम सावन कुमार को दिए जाने के बाद डीएम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए दो सदस्यीय जांच कमिटी गठित कर जांच की जिम्मेवारी भूमि सुधार उपसमाहर्ता और कार्यपालक अभियंता पीएचईडी विभाग शेखपुरा को सौंपा। इस मामले की शिकायत की जांच करने जब जांच टीम गांव पहुंची ।तब जांच के दौरान पाया कि मुखिया द्वारा एक भी नलकूप का जीर्णोद्धार नही कराया गया है। जांच उपरांत बाद जांच टीम के अधिकारी गण अपना जांच रिपोर्ट डीएम को सौंपा। जांच टीम के जांच रिपोर्ट के आधार पर मुखिया और पंचायत सचिव के विरुद्ध वित्तीय अनियमितता का आरोप लगाते हुए घोटाले की प्राथमिकी दर्ज कराई गई। मालूम हो कि सरकार द्वारा जिले के कई पंचायतों में नलकूपों और कुंआ के जीर्णोद्धार हेतु लाखों लाख रुपए की राशि उपलब्ध कराई गई थी। जिसमे कई मुखिया और पंचायत सचिव द्वारा काम कराए बगैर राशि की अवैध निकासी कर ली गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !! Copyright Reserved © RD News Network