अनुपस्थित अधिकारियों पर उठा सवाल

आर० डी० न्यूज़ नेटवर्क : 14 फरवरी 2022 : बिक्रमगंज(रोहतास)। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के बाद काराकाट प्रखंड में सोमवार को पंचायत समिति सदस्यों की बैठक प्रखंड प्रमुख बैजंती देवी की अध्यक्षता में आयोजित की गई । बैठक की शुरुआत प्रखंड कार्यपालक पदाधिकारी सह पंचायती राज पदाधिकारी सौरभ कुमार ने सात सदस्य स्थाई समिति के गठन करने की नियमावली को सदन से बताया । इसके बाद काराकाट विधायक अरुण कुमार सिंह ने सदन में उपस्थित जनप्रतिनिधियों से सदन के संचालन और सदन की गरिमा को ख्याल रखकर आपसी तालमेल व सद्भावना के साथ अपने क्षेत्र के विकास के लिए कार्य करने की अपील किया । विधायक अरुण कुमार सिंह ने सबसे पहले उपस्थित सदन के जनप्रतिनिधियों से क्षेत्र की सबसे बड़ी समस्या गांव में नाली के पानी के निकास की समस्या को समाधान करने को कहा कहा कि सभी जनप्रतिनिधि गांव के नाली के पानी की निकासी को अंतिम छोर तक व्यवस्था करने की कार्य को सुनिश्चित करने की अपील किया । बताया कि यह समस्या क्षेत्र के सभी गांव में बनी हुई है जो आवागमन के साथ गंदगी से लेकर हर प्रकार की परेशानी बनी हुई है । जिसका निष्पादन हम सभी मिलकर कर सकते है । सदन में मौजूद जेई को विधायक ने आवश्यक निर्देश दिया कि नाली निर्माण के समय लेवलिंग व निकासी की व्यवस्था सुनिश्चित करें ताकि आगे भविष्य में क्षेत्र के सभी गांव में इस तरह की समस्या का समस्या ना बने ।जनप्रतिनिधियों को किसानों के सिंचाई व खाद की समस्या को समाधान पर हम सभी मिलकर पहल करें आपके सभी कार्यो में मेरा हर समय सहयोग रहेगा । जन सरोकार से जुड़ी सभी समस्याओं पर ध्यान देने की अपील किया । सदन में अनुपस्थित अधिकारियों पर सभी ने जमकर बवाल किया गया । बीपीआरओ ने हस्तक्षेप करते हुए मामले को शांत कराया और आश्वासन दिया कि 15 दिनों के अंदर दूसरी बैठक कराया जाएगा तब मामला शांत हुआ । काराकाट मुखिया योगेन्द्र सिंह ने स्कूलों में शिक्षकों को समय पर नहीं पहुंचे तथा बायोमेट्रिक सिस्टम लागू करने की मांग की गई । बीईओ परमानन्द शर्मा ने इस प्रस्ताव को वरीय अधिकारियों को भेजने का आश्वासन दिया । स्वास्थ्य विभाग के सीएससी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ राजीव कुमार ने कोविड 19 के वैक्सीनेशन को लेकर पंचायत के सभी वार्डों में बैठक कर 18 प्लस उम्र से ज्यादा लोगों को तथा 15 से 18 वर्ष के उम्र के लोगों को शत प्रतिशत वैक्सीनेशन सुनिश्चित कराने की अपील किया । अमरथा पंचायत के मुखिया विजय कुमार सिंह ने स्वास्थ्य विभाग से गांव में नाली सफाई से संबंधित राशि के बारे में जानकारी मांगी कहा कि 2016 से प्रखंड क्षेत्र के किसी भी पंचायत में नाली सफाई के लिए राशि नहीं मुहैया कराई गई आखिर क्यों ? इस पर चिकित्सा पदाधिकारी ने कहा कि जल्द ही पंचायतों में एएनएम के सहयोग से खाता खोलकर राशि उपलब्ध कराया जाएगा । बताया गया कि एक पंचायत में ₹200000 आता है जिसे खाता खोलकर सभी को उपलब्ध करा दिया जाएगा । मुंजी पंचायत के मुखिया अजय कुमार सिंह ने मुंजी पंचायत में पीएम आवास में 3 लोगों के चयन पर सवाल उठाया कि आखिर पूरे पंचायत में तीन लोग हैं पीएम आवास के लायक हैं इस पर सोनबर्षा पंचायत के मुखिया राजीव रंजन सिंह, बाराडीह पंचायत मुखिया अफरोज आलम , बेनसागर पंचायत मुखिया अनिल कुमार सिंह, बीडीसी राघवेंद्र सिंह ने पीएम आवास की सूची से गरीबों के नाम हटने व पक्का घर वालों को सूची में नाम होने पर जमकर हंगामा किया । स्पष्टीकरण संबंधित अधिकारियों से मांगा गया । पीडीएस डीलर द्वारा राशन वितरण में लाभुकों को रसीद नहीं देने पर सवाल उठाया गया ।आंगनबाड़ी में राशन वितरण, होमटेक राशन वितरण से लेकर आंगनबाड़ी संचालन में कुव्यवस्था पर भी सवाल उठाया । कबीर अंत्येष्टि योजना से लेकर कन्या विवाह योजना की राशि नहीं मिलने पर सवाल उठाया ।सोनबरसा पंचायत मुखिया राजीव रंजन सिंह ने पीएम आवास में गरीबों के नाम कटने पर सवाल उठाया कि आखिर कैसे गरीबों का नाम आवास सूची से गायब हो गया । शिक्षा विभाग पर सवाल उठाते हुए काराकाट पंचायत मुखिया योगेंद्र सिंह ने कहा कि सभी स्कूलों में बायोमेट्रिक उपस्थिति लागू करने की मांग की । वही सभी विद्यालयों में बदतर शौचालय स्थिति पर जवाब मांगा । बीईओ परमानंद शर्मा ने इसकी रिपोर्ट जल्द देने की कहा । मोथा पंचायत मुखिया अंजू देवी द्वारा मनरेगा में रोजगार सेवक द्वारा मनमानी करने का आरोप लगाया । पंचायत के बीडीसी अकबर अंसारी ने पंचम वित , 15वीं वित्त के योजनाओं में पूर्व में खर्च हुए राशि की मांग किया । बुढ़वल पंचायत के बीडीसी जितेंद्र पाल ने मनरेगा कार्य में प्रमुख की अनुशंसा की बात कहीं तो सदन में जमकर हंगामा हो गया ।विपक्ष में बैठे सदन के सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया कि मनरेगा योजना भारत सरकार की योजना है ।जो गरीब मजदूरों से जुड़ा हुआ है इसमें कौन सी अनुशंसा का प्रावधान है । मनरेगा जेई ने मामले को शांत कराया । कुछ सदस्यों ने सदन की कार्यवाही समाप्त करने की आवाज उठाने लगे लेकिन बीपीआरओ सौरभ कुमार द्वारा उपस्थित अधिकारियों से समस्याओं को कहने की बात कह कर कार्यवाही शुरू की । पुनः सदन शुरू हुआ सभी जनप्रतिनिधियों ने अग्रिम योजनाओं के लिए स्वीकृति प्रदान करने की कागजात कार्यपालक पदाधिकारी सह बीपीआरओ सौरभ कुमार को सौंपा गया । बैठक में मुखिया, बीडीसी सहित कई कर्मी मौजूद थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !! Copyright Reserved © RD News Network