आर० डी० न्यूज़ नेटवर्क : 22 जून 2022 : पटना । अग्निपथ स्कीम को लेकर बिहार में छात्रों के निशाने पर आए बीजेपी नेताओं की सुरक्षा अब केंद्र सरकार करेगी। बीजेपी के 10 नेताओं की सुरक्षा का जिम्मा केंद्र सरकार ने उठाया है। केंद्र सरकार ने फैसला लिया है कि बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जयसवाल के साथ डिप्टी सीएम तार किशोर प्रसाद और रेणु देवी समेत कुछ अन्य नेताओं की सुरक्षा अब सीआरपीएफ करेगी।   केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बीजेपी के नेताओं की सुरक्षा का जिम्मा अपने ऊपर लिया है। बिहार में अग्निपथ आंदोलन के दौरान बीजेपी के नेताओं को उपद्रवियों ने निशाना बनाया था , इसे देखते हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सीआरपीएफ की सुरक्षा बीजेपी नेताओं को देने का फैसला किया है।  गृह मंत्रालय के मुताबिक डॉ. संजय जायसवाल , तार किशोर प्रसाद , रेणु देवी ,  संजय सरावगी , हरी भूषण ठाकुर बचौल , संजीव चौरसिया , अशोक अग्रवाल , दिलीप जायसवाल , गोपाल जी ठाकुर आदि नेताओं को  Y   श्रेणी की सुरक्षा मिलेगी।    

दरअसल आज ही बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा था कि पुलिस और प्रशासन की साजिश से बिहार में जमकर उपद्रव हुआ। जैसा पूरे देश में कहीं नहीं हुआ , वैसा बिहार में हुआ और पुलिस तमाशा देखती रही। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष ने आगे कहा कि एक साजिश के तहत बीजेपी को टारगेट किया जा रहा है। यह बहुत गलत हो रहा है।

डॉ. जायसवाल बोले : मैं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष की हैसियत से बोल रहा हूं कि इस तरह की घटनाएं अगर नहीं रूकी तो यह अच्छा नहीं होगा।    उन्होंने जोर देकर कहा कि बिहार में  तीन दिनों तक प्रदर्शन के नाम पर गुंडागर्दी हुई और प्रशासन खामोश देखता रहा। जो कुछ बिहार मे हो रहा है वह छात्रों द्वारा नहीं किया जा रहा है। यह पूरी तरह साजिश है। प्रशासन का काम होता है गुंडागर्दी को रोकना। हमने कल तक गलती से भी नहीं सुना कि कहीं पर लाठी चार्ज किया गया या आंसू गैस छोड़े गए।       

संजय जायसवाल ने कहा कि 300 पुलिसकर्मियों के रहते हमारे मधेपुरा कार्यालय को जला दिया गया। हमारे नवादा कार्यालय को भी तोड़ा गया तो वहां भी पुलिसकर्मी थे। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष ने मीडियाकर्मियों को वीडियो फुटेज दिखाते हुए कहा : मेरे घर पर हमला कर उसे सिलेंडर बम से उड़ाने की साजिश की गयी थी। वहां सिलेंडर बम पड़ा मिला। पुलिसकर्मियों ने उसे वहां से सिर्फ हटा दिया , कोई कार्रवाई नहीं की। उन्होंने ल कहा कि रेलवे के अधिकारी का बयान है कि जब ट्रेन में आग लगा दिये जाने के बाद फायर ब्रिगेड को कॉल किया गया तो उसने आने से मना कर दिया। फायर ब्रिगेड ने रेलवे के अधिकारी को कहा कि जब एसडीओ बोलेंगे तभी दमकल की गाड़ी जायेगी।       

केंद्र सरकार ने बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष की बातों को गम्भीरता से लेते हुए अपने दल के 10 नामित नेताओं की जानमाल की हिफाजत के लिए Y श्रेणी की सुरक्षा दिए जाने का ऐलान किया है। अब सभी चयनित नेता सीआरपीएफ के घेरे में रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !! Copyright Reserved © RD News Network