आर० डी० न्यूज़ नेटवर्क : 08 नवंबर 2023 : नई दिल्ली।  पीएम नरेंद्र मोदी  बुधवार को एमपी के गुना में नीतीश कुमार के जनसंख्या नियंत्रण पर दिए अमर्यादित बयान पर जमकर बरसे।। पीएम ने नीतीश कुमार का बिना नाम लिए सख्त नाराजगी जताते हुए कहा कि इंडी अलायंस के नेता ने विधानसभा के अंदर, जिस सभा के अंदर माता बहनें भी मौजूद थी. कोई कल्पना भी नहीं कर सकता है कि ऐसी भाषा में भद्दी बातें की. कोई शर्म नहीं है उनको”

इधर नीतीश कुमार ने आपत्तिजनक बयान को लेकर माफी मांगी। न सिर्फ वापस लिया बल्कि विधानसभा में विपक्ष के हंगामा और इस्तीफा की मांग पर पलटवार किया कि बीते दिन कुछ नहीं बोले ,आज दिल्ली के इशारे पर मेरी निंदा करते दिख रहै हैं। मैं अपने बयान के शब्द प्रयोग पर दुख प्रकट करता हूं।

पीएम नरेन्द्र मोदी ने जनसभा के मंच से इंडी गठबंधन पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने नीतीश कुमार के इस बयान को महिलाओं का अपमान और दुनिया में देश की बेइज्जती कराने वाला बयान करार दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  नीतीश कुमार समेत पूरे इंडिया गठबंधन पर सवाल खड़े कर दिए हैं। उन्होंने  नीतीश कुमार के बयान पर कहा, “नेता जो इंडी अलायंस का झंडा लेकर घूम रहे हैं. जो देश की वर्तमान सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए भांति- भांति के खेल- खेल रहे हैं। वो इंडी अलायंस के नेता ने विधानसभा के अंदर, जिस सभा के अंदर माता बहनें भी मौजूद थी। कोई कल्पना भी नहीं कर सकता है कि ऐसी भाषा में भद्दी बातें की. कोई शर्म नहीं है उनको।” उन्होंने कहा, “इतना ही नहीं इंडी अलायंस का एक भी नेता, माता बहनों के इतने भयंकर अपराध के खिलाफ एक शब्द भी बोलने के लिए तैयार नहीं हुआ। जो माता बहनों के खिलाफ ये दृष्टीकोण रखते हैं, वे अपका भला कर सकते हैं, आपका सम्मान कर सकते हैं. वो आपका गौरव रख सकते हैं। कितना दुर्भाग्य आया है, देश का…कितने नीचे गिरोगे। दुनिया में देश की बेइज्जती करा रहे हो। मेरी माताएं बहनों मैं आपके सम्मान के लिए जो हो सकेगा, वो करूंगा. कभी पीछे नहीं हटूंगा।”

नीतीश कुमार ने मंगलवार को  विधानमंडल के दोनों सदनों  में जातीय गणना पर बोलते समय शादीशुदा जिंदगियों पर महिलाओं के लेकर बयान दिया था. शारीरीक संबंध से जुड़ा उनका भाव,व्यवहार और वक्तव्य अनुचित था. सीएम के अमर्यादित बयान पर उस समय किसी ने प्रतिक्रिया नहीं जताई । कई सदस्य हंसं-मुस्कुरा रहे थे तो कॢई  सीएम पद की गरिमा और मर्यादा के प्रतिकूल नीतीश के बयाप पर हैरान थे। सीएम ने विधानसभा में दिए अमर्यादित बयान को घंटा बाद परिषद में भी दोहराया था। इस बयान की देश-व्यापी विरोध देख सीएम ने माफी मांगी परंतु सदन की कार्यवाही हंगामे की भेंट चढ गयी।विपक्ष पूरू दिन सीएम के बयान का वचाव करने वाले उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव के भी इस्तीफा की मांग करता रहा।

 सीएम के बयान पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी नाराजगी जताई है। उनसे माफी मांगने को कहा है।

नीतीश ने मांगी माफी : इधर, बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने बयान पर खेद प्रकट किया. इसके साथ ही उन्होंने माफी मांगी. उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अगर मेरे बयान से दुख पहुंचा है, तो मैं हाथ जोड़कर माफी मांगता हूं। किसी को ठेस पहुंचाने के लिए बयान नहीं दिया था. मेरी बात से किसी को दुख हुआ है, तो उसके लिए माफी मांगता हूं। उन्होंने विधानसभा के अंदर ही अपने बयान की खुद निंदा की। उन्होंने कहा, “मेरी बात से अगर लोगों को दुख हुआ है तो मैं अपनी बात वापस लेता हूं। मेरा उद्देश्य किसी को ठेस पहुंचाना नहीं था। मेरी कोशिश प्रजनन दर में कमी को लेकर समझाना था। मैंने हमेशा महिलाओं के उत्थान के लिए काम किया है। मैं महिलाओं का काफी सम्मान करता हूं। मेरे बयान को गलत तरीके से लिया गया है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !! Copyright Reserved © RD News Network