आर० डी० न्यूज़ नेटवर्क : 13 फरवरी 2022 : केंद्रीय जांच ब्यूरो ने गुजरात के सूरत की कंपनी एबीजी शिपयार्ड और उसके निदेशकों के खिलाफ 28 बैंकों के साथ 22,842 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी करने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की है. कंपनी जहाज निर्माण और जहाज की मरम्मत में लगी हुई है. इसके शिपयार्ड गुजरात के दहेज और सूरत में स्थित हैं. इस कंपनी के कुल आठ लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. एबीजी शिपयार्ड से जुड़े कई ठिकानों पर सीबीआई ले रही है तलाशीएफआईआर के मुताबिक, घोटाले का समय अप्रैल 2012 से जुलाई 2017 तक बताया गया है. यह सीबीआई द्वारा दर्ज सबसे बड़ा बैंक धोखाधड़ी का मामला है. सीबीआई ने एबीजी शिपयार्ड और उसके तत्कालीन अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक ऋषि कमलेश अग्रवाल सहित अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. जानकारी के मुताबिक, सीबीआई 22,842 करोड़ रुपये के बैंक धोखाधड़ी मामले में मुंबई में एबीजी शिपयार्ड से जुड़े कई स्थानों पर तलाशी ले रही है. बैंकों के साथ-साथ एलआईसी को भी लगा चूनासीबीआई के एफआईआर के मुताबिक, इस कंपनी ने तमाम नियम कानूनों को दरकिनार कर बैंकों को चूना लगाया है. साथ ही एलआईसी को भी 136 करोड़ रुपये का चूना लगा है. बताया गया है कि एसबीआई को 2468 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. कंपनी पर आरोप है कि बैंकों से फ्रॉड किए गए पैसे को विदेशों में भी भेजा गया और प्रॉपर्टी में निवेश किया गया. साथ ही पैसा एक कंपनी से दूसरी कंपनी में भी ट्रांसफर किया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !! Copyright Reserved © RD News Network