शहर की मुख्य सड़कों पर गूंजते रहे जिंदाबाद के नारे।

सासाराम। बिहार विधानसभा चुनाव के 243 में से 71 सीटों पर प्रथम चरण में 28 अक्टूबर को होने वाले चुनाव को लेकर बुधवार को जिले के सातों विधानसभा के लिए चयनित किए गए नामांकन कार्यालय में प्रत्याशियों की भारी भीड़ देखी गई। विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया के सातवें दिन जिले के सभी विधानसभा सीटों से अलग-अलग उम्मीदवारों ने नामांकन के पर्चे दाखिल किए।

बुधवार को नोखा विधानसभा सीट से राजद उम्मीदवार सह पूर्व मंत्री अनिता चौधरी, जदयू उम्मीदवार नागेंद्र चंद्रवंशी, जाप उम्मीदवार अनीता यादव, रालोसपा उम्मीदवार अखिलेश्वर प्रसाद सिंह एवं राजेश्वर सिंह ने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नामांकन पत्र दाखिल किया।

वहीं करगहर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने के लिए जदयू के टिकट पर वशिष्ठ सिंह, कांग्रेस उम्मीदवार संतोष कुमार मिश्र, लोजपा उम्मीदवार राकेश कुमार सिंह उर्फ़ गबरु सिंह, बहुजन उम्मीदवार उदय प्रताप सिंह एवं नीरज शुक्ला व रिंकी देवी ने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में नामांकन दाखिल किया। साथ हीं नामांकन की अंतिम तिथि से 1 दिन पूर्व सासाराम विधानसभा सीट से जदयू के टिकट पर डॉ अशोक सिंह तथा चेनारी विधानसभा सीट से जदयू के चुनाव चिन्ह पर ललन पासवान एवं कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में मुरारी गौतम ने भी अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया।

ज्ञात हो कि कचहरी मोड़ के समीप अनुमंडल परिसर में दो विधानसभा क्षेत्रों सासाराम व करगहर के लिए नामांकन कक्ष बनाए गए है। जहां सदर एसडीओ मनोज कुमार के समक्ष सासाराम विधानसभा के प्रत्याशी एवं डीसीएलआर प्रेमकांत सूर्य के समक्ष करगहर विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशी अपने नामजदगी का पर्चा दाखिल कर रहे हैं। जबकि जिला समाहरणालय परिसर में नोखा विधानसभा क्षेत्र के लिए उप विकास आयुक्त सुरेंद्र प्रसाद व चेनारी विधानसभा के लिए एडीएम लालबाबू सिंह के कक्ष में प्रत्याशी अपना नामांकन पत्र दाखिल कर रहे हैं। इसके अलावे सभी प्रत्याशियों को नामांकन कार्यालय में प्रवेश करने से पूर्व कोरोना संक्रमण की जांच की जा रही है। जिसके पश्चात हीं निर्वाचन हेल्प डेस्क पर उम्मीदवार के फॉर्म की जांच कर उन्हें नामांकन कक्ष में भेजा जा रहा है।

नामांकन प्रक्रिया की दौरान चुनाव आयोग के दिशा निर्देशों व कोविड-19 के मानकों का बखूबी पालन जिला प्रशासन द्वारा सुनिश्चित किया जा रहा है। समर्थकों को परिसर के मुख्य द्वार के अंदर प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गई है। सिर्फ उम्मीदवार व उनके दो प्रस्तावकों को हीं अंदर जाने की इजाजत है। वहीं विधानसभा चुनाव को लेकर धीरे-धीरे पूरा जिला चुनावी रंग में रंग चुका है। शहर की बात करें तो नामांकन को लेकर काली स्थान से लेकर जिला समाहरणालय तक प्रत्येक दल के नेता व कार्यकर्ता अपने-अपने प्रत्याशियों को फूल माला से स्वागत करते हुए जोर-जोर से जिंदाबाद के नारे लगाते दिखाई पड़ रहे हैं।नामांकन प्रक्रिया के दौरान ज्यादातर भीड़ जिला समाहरणालय के इर्द-गिर्द हीं देखी जा रही है। समर्थक अपने-अपने उम्मीदवारों के बाहर निकलने का इंतजार फूल माला लेकर कर रहे हैं तथा जीत को लेकर सभी के अपने-अपने दावे हैं।

दूसरी ओर चुनावी तिथियों के बारे में बात करें तो अब पहले चरण में होने वाले चुनाव के लिए 8 अक्टूबर को नामांकन की प्रक्रिया समाप्त हो जाएगी। जिसके बाद 9 अक्टूबर को नामांकन पत्रों की स्क्रुटनी की जाएगी तथा नाम वापसी की अंतिम तिथि 12 अक्टूबर तक होगी। जिसके पश्चात 28 अक्टूबर को मतदान संपन्न कराया जाएगा। अंत में सभी चरणों के मतदान संपन्न होने के पश्चात 10 नवंबर को मतों की गणना की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !! Copyright Reserved © RD News Network