आर० डी० न्यूज़ नेटवर्क : 04 जून 2022 : मशहूर सिंगर केके की मौत के बाद बाद अब बंगाल प्रशासन एक्शन में आ गया है। बंगाल सरकार ने कॉलेज फेस्ट को लेकर सभी कॉलेजों के लिए नई एडवाइजरी जारी की है। बंगाल सरकार ने कहा है कि सभी फेस्टिवल और कल्चरल प्रोग्राम की जानकारी उच्च शिक्षा विभाग को देनी होगी। इस नए SOPs के जरिए बंगाल सरकार का उद्देश्य भविष्य में कॉलेज के ऐसे इवेंट्स पर कड़ी नजर रखना है। बता दें कि सिंगर केके की 31 मई को एक लाइव परफॉरमेंस के दौरान मौत हो गई थी। इस घटना को लेकर कई तथ्य सामने आए हैं जिसके बाद से बंगाल सरकार जाग गई है।

ये नए SOPs (Standard Operating Procedures) क्या हैं?

एक अंग्रेजी मीडिया की रिपोर्ट के अनुसार बंगाल सरकार द्वारा जारी की गई नई एडवाइजरी से स्पष्ट है कि आलोचनाओं के बाद वो भविष्य में किसी भी तरह के रिस्क को खत्म करना चाहती है। एक नजर जारी की गई नई एडवाइजरी पर:

1. ऑर्गनाइजर्स को अथॉरिटी को पहले ही सूचना देनी होगी कि वो किस तरह के फेस्टिवल का आयोजन करने वाले हैं।
2. वे किस तरह के टर्नआउट की उम्मीद कर रहे हैं
3. सेलिब्रिटी जो आने वाले हैं उनकी जानकारी प्रशासन को देनी होगी
4. टिकट ऑडिटोरियम की क्षमता से अधिक नहीं होना चाहिए
5. सभी ऑडिटोरियम में एम्बुलेंस स्टैंडबाय मोड में होना आवश्यक है, ये न केवल सेलिब्रिटी कलाकार के लिए, बल्कि किसी भी तरह की आपात स्थिति के लिए।
6. पुलिस को इस बात की जानकारी देनी होगी कि जिस कलाकार को पर्फॉर्म करने के लिए बुलाया गया है उसकी फैन फॉलोइंग कैसी है। उसी के आधार पर पुलिस की ताकत को जमीनी स्तर पर प्रभावी बनाया जाएगा।

बंगाल पुलिस ने जारी किये दो वीडियो

बता दें कि सिंगर केके की मौत के बाद कोलकाता पुलिस ने दो वीडियो जारी कर बताया है कि ऑडिटोरियम में क्षमता से अधिक लोग थे। ऑडिटोरियम की क्षमता दो से ढाई हजार की है, लेकिन कार्यक्रम में 5 हजार लोग मौजूद थे। भीड़ को नियंत्रित करना भी कठिन हो रहा था। यही नहीं AC भी काम न करने की वजह से घुटन जैसा माहौल था। सिंगर केके AC न चलने की शिकायत भी करते हुए नजर आए थे, लेकिन उसपर गौर नहीं किया गया। केके की तबीयत ठीक नहीं थी, फिर भी थोड़ा ब्रेक लेने के बाद उन्होंने परफॉरमेंस जारी रखा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !! Copyright Reserved © RD News Network